रोलिंग प्लान के पहले प्रतिपादक कौन थे?

रोलिंग प्लान के पहले प्रतिपादक कौन थे?

इसे सुनेंरोकेंरोलिंग प्लान से तात्पर्य अनवरत योजना से होता है। इस धारणा का जन्मदाता ‘गुन्नार मिर्डल’ को माना जाता है।

छठी पंचवर्षीय योजना का मॉडल क्या था?

इसे सुनेंरोकेंयह भारत की राष्ट्रीय योजना है जो प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में योजना आयोग द्वारा विकसित और कार्यान्वित होती है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य कृषि तथा सम्बद्ध क्षेत्र में रोज़गार का विस्तार करना, जन- उपभोग की वस्तुएँ तैयार करने वाले कुटीर एवं लघु उद्योगों को बढ़ावा देना था।

भारत में कौन सी पंचवर्षीय योजना अंतिम तिथि?

इसे सुनेंरोकेंयोजना के अंतर्गत सरकार द्वारा 12वी पंचवर्षीय योजना जारी है। 1951 में भारत में पहली पंचवर्षीय योजना शुरू की गई थी। और 2017 में 12वी अंतिम पंचवर्षीय परियोजना हुई। इसके बाद मोदी सरकार द्वारा इन योजनाओ को बनाना बंद कर दिया है।

पढ़ना:   व्यक्ति के शरीर में कुल कितनी पसलियां होती हैं?

छठी पंचवर्षीय योजना के दौरान कौन सा कार्यक्रम शुरू किया गया?

इसे सुनेंरोकेंग्रामीण विकास योजनाओं जैसे कि एकीकृत ग्रामीण विकास कार्यक्रम (आईआरडीपी), राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार कार्यक्रम (एनआरईपी), और ग्रामीण भूमिहीन रोजगार गारंटी कार्यक्रम (आरएलईपी), आदि के माध्यम से गरीबी उन्मूलन पर विशेष ध्यान दिया गया। एकीकृत ग्रामीण विकास कार्यक्रम (आईआरडीपी) 2 अक्टूबर 1980 को पूरे देश में शुरू किया गया था।

रोलिंग प्लान कब लाया गया?

इसे सुनेंरोकेंरोलिंग प्लान: जब केंद्र में मोरारजी देसाई सरकार सत्ता में आयी तो उसने पांचवीं पंचवर्षीय योजना को 1978 में ही खत्म कर दिया था और इसके स्थान पर एक “वार्षिक प्लान” बना दिया था जिसे रोलिंग प्लान कहा गया था. i. इस योजना की अवधि 1980 से 1985 तक थी.

रोलिंग प्लान के समय भारत के प्रधानमंत्री कौन थे?

इसे सुनेंरोकेंएक नई छठी पंचवर्षीय योजना शुरू की जिसे “रोलिंग प्लान” (1978 – 80 ईस) के रूप में जाना जाता है। भारत में रोलिंग योजना को “डी. टी. लकड़ावाला” को लागू करने का श्रेय दिया जाता है। 24 मार्च 1977 को जनता पार्टी की सरकार बनी और ‘मोरजी देसाई’ प्रधानमंत्री बने थे।

पढ़ना:   सच्चे मित्र का क्या पहचान है?

रोलिंग प्लान के समय प्रधानमंत्री कौन था?

इसे सुनेंरोकेंबाद में जनता पार्टी की मोरारजी देसाई की सरकार आयी। मिर्डल ने पिछड़े देशों के लिए एक प्लान दिया था जिसे रोलिंग प्लान के नाम से जाना जाता है। 1978 में जनता पार्टी ने प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के नेतृत्व में इसे स्वीकार किया था।

भारत में योजना अवकाश कौन सी पंचवर्षीय योजना के बाद घोषित किया गया था?

इसे सुनेंरोकेंसरकार ने तीसरी और चौथी पंचवर्षीय​ योजना के बीच “योजना अवकाश” घोषित किया। “योजना अवकाश” 1966 से 1969 तक हुआ।

पंचवर्षीय योजना को अंतिम मंजूरी कौन देता है?

इसे सुनेंरोकें’राष्ट्रीय विकास परिषद’ में …

भारत की पंचवर्षीय योजनाओं को अंतिम स्वीकृति कौन देता है?

योजना अवकाश का क्या अर्थ है?

इसे सुनेंरोकेंचीन और पाकिस्तान से युद्ध एवं वर्षा न होने के कारण तृतीय पंचवर्षीय योजना अपना लक्ष्य प्राप्त करने में असफल रही, जिसके कारण चौथी योजना तीन वर्ष के लिए स्थगित करके इसके स्थान पर तीन एक वर्षीय योजनाएँ लागू की गईं। इस अवधि को ‘योजना अवकाश’ कहा गया है।

पढ़ना:   प्रेगनेंसी के 8 महीने में बच्चे का वजन कितना होना चाहिए?

भारत में पहली पंचवर्षीय योजना की अवधि क्या थी?

इसे सुनेंरोकेंपहली पंचवर्षीय योजना (1951-1956) हमारे देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी द्वारा पहली पंचवर्षीय योजना वर्ष 1951 के शुरू की गयी थी और इस योजना का कार्यकाल सन 1956 तक चला ।

दूसरी पंचवर्षीय योजना के प्रमुख योजनाकार कौन थे?

इसे सुनेंरोकेंNotes: दूसरी पंचवर्षीय योजना के योजनाकार पी सी महालनोबिस थे।