अंकुरित नारियल का क्या करना चाहिए?

अंकुरित नारियल का क्या करना चाहिए?

इसे सुनेंरोकेंजब इस तरह की परिस्थिती बन जाती हैं तब उस नारियल को या तो किसी को दे देना चाहिए या खुद के पास कोई जमिन हैं तो उसमें उसका रोपण कर दें । यदी ऐसी कोई परिस्थिती उपलब्द नहिं हो सकती हैं तब उस नारियल को बहते शुध्द जल में प्रवाहित कर देना चाहिए ।

नारियल की जटा से क्या बनता है?

इसे सुनेंरोकेंकैसी भी बवासीर हो खूनी या बादी इसके लिए बड़ा कारगार इलाज है नारियल की जटाएं। इसके प्रयोग से पुरानी से पुरानी बवासीर को 1-3 दिन मे ठीक कर सकता हैं। इसके एक दिन के इस्तेमाल से ही खून का आना बंद हो जाता है। नारियल की जटाओ को जलाकर भस्म बना लें।

पढ़ना:   मुद्रास्फीतिजनित मंदी से आप क्या समझते हैं?

नारियल का बीज खाने से क्या होता है?

इसे सुनेंरोकेंतथा नारियल का बीज पुत्र का रूप माना जाता है। अगर सही विधि से नारियल के बीज का प्रयोग किया जाए तो निश्चित ही भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त होता है। और भक्तों की मनोकामना पूर्ण होती है। और नि:संतान दंपति को अथवा पुत्र की कामना करने वाले लोगों को पुत्र की प्राप्ति होती है।

फूल वाला नारियल से क्या होता है?

इसे सुनेंरोकेंनारियल के फूल के फायदे इसमें मौजूद एंटीवायरल, एंटीबैक्‍टीरियल, एंटीफंगल और एंटी-परासाइट गुणों के कारण यह आपकी इम्‍यूनिटी को बढ़ाता है जिससे आप बीमारियों से बचे रहती हैं। 2. नारियल का फूल खाने से आपको तुरंत एनर्जी का अहसास होता है क्‍योंकि यह एनर्जी का प्राकृतिक स्रोत है और शारीरिक क्षमता को बढ़ाता है।

नारियल के छिलके क्या काम आते हैं?

इसे सुनेंरोकें-नारियल की जटा में फाइबर की अधिकता होती है, यह पेट से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में असरकारी माना जाता है। -बवासीर से पीडि़त मरीजों के लिए नारियल की जटा काफी फायदेमंद हो सकती है। इसके इस्तेमाल से पुरानी से पुरानी बवासीर की समस्या को दूर कर सकते हैं। -दांतों की सफाई करने में नारियल का छिलका असरकारी होता है।

पढ़ना:   पालतु प्राणियों के लिए आप क्या करते हैं?

नारियल की जटा से बवासीर का इलाज कैसे होता है?

इसे सुनेंरोकेंइस आयुर्वेदिक दवा के बारे में बाद में और भी बहुत से लोंगो के मुंह से सुना। कुछ लोगों ने बताया कि एक गिलास (गिलास शीशे का हो तो ज्यादा बेहतर होगा) छाछ में एक चम्मच नारियल की जली हुई जटा की खूब बारीक पिसी राख मिला सुबह खाली पेट लेने से नई या पुरानी खूनी बवासीर में बहुत जल्दी फायदा मिलता है।

प्रेगनेंसी में नारियल का बीज कब खाना चाहिए?

इसे सुनेंरोकेंपुत्र प्राप्ति के लिए नारियल का बीज कब खाना चाहिए? यह उपाय तब किया जाता है, जब महिला गर्भवती हो जाती है. और उसे जब पता चलता है, कि वह गर्भवती हो गई है. तो उसके बाद जितनी जल्दी हो सके, उसे यह उपाय कर लेना चाहिए.