नया रास्ता उपन्यास लिखने के पीछे िेखखका का क्या उद्देश्य है?

नया रास्ता उपन्यास लिखने के पीछे िेखखका का क्या उद्देश्य है?

इसे सुनेंरोकेंAnswer. “नया रास्ता” उपन्यास ‘सुषमा अग्रवाल’ द्वारा लिखा गया एक प्रसिद्ध उपन्यास है। इस उपन्यास में दहेज प्रथा जैसी कुरीतियों पर चोट की गयी है और इस प्रथा से प्रभावित युवतियों इसके कुप्रभावों से निकल आने के लिये एक प्रेरणा दी गयी है।

मीनू कौन है?

इसे सुनेंरोकेंप्रगतिशील युवती – मीनू, एक परिपक्व विचारों की युवती है . स्वयं दहेज़ के कारण विवाह न कर पाने के कारण वह पढ़ाई न कर पाने वह पढ़ाई जारी रखती है ,वहीँ अपनी छोटी बहन आशा के विवाह में बाधा नहीं बनती ,बल्कि वह शादी करवाने के लिए राजी करवाती है .

दयाराम जी किसका रिश्ता लेकर मायाराम जी के घर पहुँचे?

इसे सुनेंरोकेंमायाराम जी का परिवार मीरपुर से वापिस आ रहा था वे वहां पर दयाराम जी की बेटी मीनू को अमित के लिए देखने गए थे । २. यह सज्जन धनिमल जी है जो मेरठ के धनि व्यक्तियों में से एक है । वे अपनी पुत्री के विवाह का प्रस्ताव अमित के लिए लेकर आये थे ।

पढ़ना:   झारखंड में सीएनटी एसपीटी अधिनियम क्या है?

मीनू कौन थी उसे आज कौन सी परीक्षा देनी थी?

इसे सुनेंरोकेंयूँ तो मीनू को बचपन से ही वकील बनने की इच्छा थी परंतु उसके माता-पिता उसे होस्टल भेजने के पक्ष में न होने के कारण उसकी यह इच्छा पूरी नहीं हो पा रही थी। पर अंत में मीनू की लगन देखकर उन्होंने उसे आज्ञा दे दी इस प्रकार विवाह के अलावा मीनू का लक्ष्य वकील बनना था।

मीनू की माँ शादी करना क्यों आवश्यक मानती है समझाकर लिखिए?

इसे सुनेंरोकेंयह स्रोचका उसने निर्णय लिया कि वह विवाह नहीं करेगी । उसने विवाह का सपना देखना ही छोड दिया । मीनू में साहस की कमी न थी । उसने वकील बनने का दृढ निश्चय किया ताकि अपने पाँव पर खडी होकर वह इतना पैसा कमा सके कि जिससे वह समाज में सिर ऊचा” करके रह सके ।

उपन्यास नया रास्ता में आपको सबसे ज्यादा किस पात्र ने प्रभावित किया और क्यों वर्णन कीजिए?

इसे सुनेंरोकेंनया रास्ता सारांश : उपन्यास की मुख्य पात्रा मीनू एक साँवले रंग की मध्यवर्गीय परिवार की युवती है, जो उच्च शिक्षित और अन्य सभी कार्यों कुशल युवती है। परन्तु अपने साँवले रंग के कारण उसमें एक हीन भावना सी रहती है। उसका विवाह अमित नाम के लड़के से तय होता है परंतु अधिक दहेज न दे पाने के कारण लड़के वाले मना कर देते हैं।

पढ़ना:   900 ग्राम में कितने मिलीग्राम होते हैं?

मीनू कौन से नृत्य में निपुण थी?

इसे सुनेंरोकेंकत्थक नृत्य See what the community says and unlock a badge.

मेरठ में पहुँचने पर दयाराम जी को क्या ज्ञात हुआ तथा उनकी क्या प्रतिक्रिया हुई?

इसे सुनेंरोकेंघर पहुचने पर दयाराम जी का उदास चेहरा दखकार तथा वास्तविकता जानने पर सबका हदय मायाराम जी के परिवार के प्रति घृणा से भर गया । मीनू के अन्दर एक ही भावना घर कर गईं । शायद वह विवाह के योग्य नहीं है । यह स्रोचका उसने निर्णय लिया कि वह विवाह नहीं करेगी ।

मीनू के पिता ने समाज का हवाला देतेह ु ए क्या कहा?

इसे सुनेंरोकेंउसके सामने इतनी लंबी जिंदगी पड़ी थी, जिसका वह एक क्षण भी व्यर्थ नहीं होने देना चाहती थी। मीनू समाज के झूठे आवरण को हटाकर एक सत्य दिखाना चाहती है – स्पष्ट कीजिए। उत्तर: यहाँ पर मीनू समाज को यह दिखाना चाहती थी कि केवल विवाह ही किसी लड़की की मंजिल नहीं होती है।

पढ़ना:   पारितंत्र में ऊर्जा का प्राथमिक स्रोत कौन सा है?

नीलिमा को शादी में मीनू ने क्या भेंट दी?

इसे सुनेंरोकेंउत्तर: यूँ तो मीनू को बचपन से ही वकील बनने की इच्छा थी परंतु उसके माता-पिता उसे होस्टल भेजने के पक्ष में न होने के कारण उसकी यह इच्छा पूरी नहीं हो पा रही थी। पर अंत में मीनू की लगन देखकर उन्होंने उसे आज्ञा दे दी इस प्रकार विवाह के अलावा मीनू का लक्ष्य वकील बनना था।

अमित को नीलिमा से क्या ज्ञात हुआ था उसे सुनकर उसने क्या निर्णय लिया था?

इसे सुनेंरोकेंAnswer: जब नीलिमा ने बताया कि अमित आज भी उस लड़की (मीन) से शादी करना चाहते हैं तो मीनू को बुरा नहीं लग रहा था। आज ये सब बातें सुनकर वह मन-ही-मन अमित से घृणा नहीं कर रही थी। (iv) मीनू परिस्थितियों से हार मानने वाली कोई साधारण नारी नहीं थी।