पठन क्यों आवश्यक है?

पठन क्यों आवश्यक है?

इसे सुनेंरोकेंशिक्षा की प्रक्रिया का संचालन सभी शिक्षण स्तरों पर वाचन के माध्यम से किया जाता है, बिना वाचन के शिक्षण की प्रक्रिया का संचालन संभव नहीं है। लिखित भाषा को सीखने हेतु वाचन का विशेष महत्व है। अक्षरों को सीखने के लिए अक्षरों की ध्वनि के उच्चारण की सहायता ली जाती है बिना पठन के भाषा का ज्ञान अधूरा होता है।

बाल सभा का मुख्य लाभ क्या है?

इसे सुनेंरोकेंबाल ग्राम सभा 10-18 वर्ष की आयु के बच्चों का वार्ड स्तरीय समूह है जिसका उद्देश्य बाल विकास, आयोजन क्रियान्वयन कार्यक्रमों में विद्यमान कमियों की पहचान करना और उन पर चर्चा करना है तथा साथ ही ग्राम पंचायत क्षेत्र में बाल – हितैषी विकास कार्यों को प्रारंभ करना है।

पठान योग्यता का कारण क्या है?

इसे सुनेंरोकेंपठन अयोग्यता के अनेक कारण होते हैं, जो कि इस प्रकार हैं… वाणी दोष : बालक को बोलने में कठिनाई होती है, जैसे तुतलान, हकलान, अटक-अटक या रुक-रुक कर बोलना। किसी बात को कहने में आत्मविश्वास की कमी होना। ऐसे बालकों को भाषा और शब्द का तो पूर्ण ज्ञान होता है, लेकिन वे इसको सही ढंग से नही बोल पाते।

पढ़ना:   समन्वय का उद्देश्य क्या है?

पठन सभा क्या है?

इसे सुनेंरोकेंयह इकाई उन संसाधनों और अभ्यासों के बारे में है, जिनसे आपके छात्रों को अंग्रेज़ी में सस्वर पढ़ने और मौन रहकर पढ़ने के मुख्य कौशल विकसित करने में, तथा बोलकर पढ़ने से मौन रहकर पढ़ने की ओर बढ़ने में मदद मिलती है। जब आप अपने छात्रों को अंग्रेज़ी में बोलकर पढ़ते हुए सुनते हैं, तो आप उनकी पठन क्षमता का निरीक्षण कर सकते हैं।

बाल सभा में क्या क्या होता है?

इसे सुनेंरोकेंइसमें वाद-विवाद, श्लोक वाचन, भाषण, गीत, कविता, लोकगीत, नृत्य, विज्ञान के प्रयोग, जादू प्रदर्शन, फिल्म प्रदर्शन, खेल, प्रेरक लोगों के जीवन प्रसंगों का वाचन, पहेली हल करना जैसी गतिविधियों को शामिल किया है।

बाल सभा में क्या बोले?

इसे सुनेंरोकेंइस मौके पर वरिष्ठ अध्यापक आनंद कुमार जैन ने कहा कहा कि बालसभा के जरिए विद्यार्थी का सर्वांगीण विकास होता है। बालसभा अध्यापन के सामान्य और विशिष्ट उद्देश्यों की पूर्ति में सहायक है। उन्होंने कहा कि हमने भारत में जन्म लिया, इस बात का हमें गौरव होना चाहिए। भारत ने सदैव स्वयं को सबल सिद्ध किया है।

पढ़ना:   सुनहला रत्न कौन सा होता है?

पर्यावरण अध्ययन शिक्षण में नियोजन की आवश्यकता क्यों है इसे लिखिए?

इसे सुनेंरोकेंनियोजन आपके अध्यायों को स्पष्ट और समयबद्ध बनाने में मदद करता है, जिसका अर्थ यह है कि आपके छात्र सक्रिय रहते हैं और रूचि लेते हैं। योजना को प्रभावी बनाने की प्रक्रिया को लचीला रखना होता है ताकि अध्यापक पढ़ाते समय अपने छात्रों की प्रतिक्रियाओं के आधार पर शिक्षण–प्रक्रिया में बदलाव कर सकें।

विविधता और असमानता से आप क्या समझते हैं?

इसे सुनेंरोकेंविविधता, असमानता तथा प्रभावहीनता के रूप (प्रकार) कुछ बालक बुद्धिमान और कुछ कम बुद्धिमान होते हैं। कुछ शीघ्र सीख जाते हैं और कुछ जल्दी सीखने में असमर्थ होते हैं। (2) भाषा संबंधी विविधता व असमानता – कुछ बालक भाषा संबंधी अल्प ज्ञान के कारण कक्षा में पूर्णतः समझ पाने में असमर्थ रहते हैं।

कक्षा में विविधता और असमानता से आप क्या समझते हैं?

इसे सुनेंरोकेंयह विविधता का रूप नहीं है, बल्कि गैर-बराबरी का रूप हैं। गैर-बराबरी का मतलब है कि कुछ लोगों के पास न अवसर हैं और न ही जमीन या पैसे जैसे संसाधन, जो दूसरों के पास हैं। यह लोगों के बीच मौजूद असमानता यानी गैर-बराबरी है। जाति व्यवस्था असमानता का एक और उदाहरण है।

पढ़ना:   गैर संक्रामक रोग क्या है?

पर्यावरण अध्ययन सीखने सिखाने में आकलन की क्या आवश्यकता है?

इसे सुनेंरोकें__ आकलन यदि सीखने-सिखाने की प्रक्रिया का आवश्यक अंग बन जाता है तो बच्चे की प्रगति की नियमित जानकारी ली जा सकेगी, इस जानकारी के विश्लेषण के आधार पर यह पता लगाना संभव हो सकेगा कि कहाँ और किन क्षेत्रों में किस तरह के उपचार या सुधार कार्यों की आवश्यकता है।

पर्यावरण अध्ययन क्या है इसके घटक विषय क्षेत्र महत्व तथा इसकी जागरूकता की आवश्यकता क्यों हुई?

इसे सुनेंरोकेंपर्यावरण अध्ययन के उद्देश्य एक ऐसी दुनिया का विकास करना है जिसमें व्यक्ति पर्यावरण और इसके साथ जुड़ी समस्याओं के बारे में जानते हैं और चिंतित हैं और व्यक्तिगत रूप से काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और साथ ही साथ वर्तमान समस्याओं और भविष्य की रोकथाम के समाधान के लिए सामूहिक रूप से काम करते हैं पर्यावरणीय अध्ययन का दायरा …