गेहूं बोने का सही समय कौन सा है?

गेहूं बोने का सही समय कौन सा है?

इसे सुनेंरोकेंकृषि विभाग के मुताबिक फसलों का उत्पादन बढ़ाने के लिए उनका सही समय पर बोना आवश्यक है। गेहूं की फसल बोने के लिए 1 से 20 नवंबर तक श्रेष्ठ समय है। हालाकि पछेती किस्मों को 25 दिसंबर तक बोया जा सकता है। बीज को बोने से पहले उसे उपचारित करना चाहिए, ताकि दीमक से फसल को बचाया जा सके।

502 गेहूं की पैदावार कितनी होती है?

इसे सुनेंरोकेंप्रति एकड़ खेत से 20 से 22 क्विंटल गेहूं की पैदावार होती है।

गेहूं की वैरायटी क्या क्या है?

इसे सुनेंरोकेंUAS – 304, के0402 (MAHI), नरेंद्र व्हीट 4018 (NW -4018), DBW 90, पुसा गौतम (HI) 3086), DBW 88, HD 30 9 0, (पुसा अमूलिया), पुसा गौतम (HD) 3086) ,निलगरी खापली (HW 10 9 8), पुसा किरण (HS – 542), RSP 561,DBW 107, DBW 110, पुसा वैटसाला (HD 3118), पुसा एनामोल (HI 8737), WHD 9 48, शीटा- W 6 (AAI-W 6,) के0607 WH, 1124, नरेंद्र …

पढ़ना:   अनुसंधान क्या है समझाइए?

2967 गेहूं की बुवाई कब से कब तक होती है?

इसे सुनेंरोकेंएचडी 2967 किस्म अक्टूबर, 2011 में की गई थी अधिसूचित गेहूँ की किस्म एच.डी. -2967 अनुदान की समयावधि अक्टूबर, 2021 में समाप्त हो जाएगी। सरकार द्वारा इस किस्म की अच्छी पैदावार को देखते हुए इसके प्रमाणित बीज पर अनुदान की समयसीमा को रबी 2021-22 तक बढ़ाया गया है।

गेहूं की कितनी वैरायटी होती है?

इसे सुनेंरोकेंएमपीओ (जेडब्ल्यू), 1215 (एमपीओ 1215), मैक 6222, पीडीडब्ल्यू 314, डीबीडब्ल्यू 39, वीएल गेहूं 907 ,(वीएल 907), डब्लूएल -711, पुसा सुकेती (एचएस -507 ), पुसा प्रची (HI-1563), डब्ल्यूएचडी-943, नेट्रावती (एनआईएडब्ल्यू -1415) ,डीपीडब्ल्यू 621-50 (पीबीडब्ल्यू 621 और डीबीडब्लू 50) ,डब्ल्यूएच-1080, एकेएडब्ल्यू -4627, पुसा बेसेंट …

गेहूं की सबसे बढ़िया किस्म कौन सी है?

इसे सुनेंरोकेंपूसा यशस्वी (Pusa yashasvi) गेहूं की इस किस्म खेती कश्मीर, हिमाचल और उत्तराखंड के लिए सबसे सही मानी जाती है. यह फफूंदी और गलन रोग प्रतिरोधक होती है. इसकी बुवाई का सही समय 5 नवंबर से 25 नवंबर तक सही मानी जाती है. इस किस्म से प्रति हेक्टेयर 57.5 से 79.

पढ़ना:   शैक्षिक मनोविज्ञान का उद्देश्य क्या है?

गेहूं में कितने दिन में पानी लगना चाहिए?

इसे सुनेंरोकेंगेहूं की फसल में पहला पानी गेहूं में पहला पानी 21 दिन बाद अवश्य दें, जोकि बहुत आवश्यक होता है जिसको सीआरआइ स्टेज बोला जाता है , गेहूं में कुल 6 सिंचाई की आवश्यकता होती है।