गैर संक्रामक रोग क्या है?

गैर संक्रामक रोग क्या है?

इसे सुनेंरोकेंजीवनशैली या गैर- संक्रामक रोग गंभीर (दीर्घकालीन) प्रकृति के रोग होते हैं और ये रोग गंभीर (अल्पकालीन) संक्रमण से नहीं फैलते हैं और न ही ये एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के माध्यम से फैलते हैं। ये स्थितियां शरीर में विकार उत्पन्न कर देती हैं जिनके कारण जीवन की गुणवत्ता भी प्रभावित हो जाती है।

कौन सा एक गैर संचारी रोग है?

इसे सुनेंरोकेंगैर-संचारी रोगों में पार्किंसन रोग, स्वप्रतिरक्षित रोग, स्ट्रोक, अधिकांश हृदय रोग, अधिकांश कर्कट रोग, मधुमेह, गुर्दे की पुरानी बीमारी, अस्थिसंध्यार्ति, ऑस्टियोपोरोसिस, अल्जाइमर रोग, मोतियाबिंद और अन्य शामिल हैं।

संक्रमण एवं संक्रमण से आप क्या समझते हैं?

इसे सुनेंरोकेंरोगों में कुछ रोग तो ऐसे हैं जो पीड़ित व्यक्तियों के प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष संपर्क, या उनके रोगोत्पादक, विशिष्ट तत्वों से दूषित पदार्थों के सेवन एवं निकट संपर्क, से एक से दूसरे व्यक्तियों पर संक्रमित हो जाते हैं। इसी प्रक्रिया को संक्रमण (Infection) कहते हैं।

पढ़ना:   निबंध की शुरुआत कैसे करते हैं *?

संक्रामक रोग कौन से हैं?

इसे सुनेंरोकेंसंक्रामक रोग, रोग जो किसी ना किसी रोगजनित कारको (रोगाणुओं) जैसे प्रोटोज़ोआ, कवक, जीवाणु, वाइरस इत्यादि के कारण होते है। संक्रामक रोगों में एक शरीर से अन्य शरीर में फैलने की क्षमता होती है। मलेरिया, टायफायड, चेचक, इन्फ्लुएन्जा इत्यादि संक्रामक रोगों के उदाहरण हैं।

इसे सुनेंरोकेंगैर-संचारी रोग ऐसी दीर्घकालिक बीमारियाँ हैं जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं फैलते हैं जैसे- कैंसर, मधुमेह और हृदय रोग, जबकि संचारी रोग तेज़ी से संक्रमण करते हैं तथा एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में अति शीघ्र फैलते हैं जैसे- मलेरिया, टायफायड, चेचक, इन्फ्लुएन्ज़ा आदि।

क्या टाइफाइड एक गैर संचारी रोग है?

इसे सुनेंरोकेंसंचारी रोग वे बीमारियाँ हैं, जो विभिन्न प्रकार के कीटों, त्वचा के संपर्क, भोजन, बूंदों आदि के माध्यम से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक आसानी से पहुँचाई जा सकती हैं, उदाहरण: टाइफाइड, खसरा, साल्मोनेला, आदि। मधुमेह, रतौंधी और कैंसर गैर-संचारी रोग हैं क्योंकि ये एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं फैलते हैं।

पढ़ना:   मध्य युग में प्रसिद्ध खगोल वैज्ञानिक कौन है?

संचारी तथा असंचारी रोग से आप क्या समझते हैं?

इसे सुनेंरोकेंऐसे रोग जो एक रोगग्रस्त व्यक्ति से दूसरे स्वस्थ व्यक्ति में दूषित भोजन, जल या संपर्क या कीटनाशकों, जानवरों आदि के कारण फैलते हैं संचारी रोग कहलाते हैं। ये विभिन्न कारकों (रोगजनकों) द्वारा फैलते हैं। अब तक छोटी माता का कोई टीका उपलब्ध नहीं है।

टाइफाइड रोग में शरीर का कौन सा अंग प्रभावित होता है?

इसे सुनेंरोकेंटाइफाइड में शरीर का सबसे अधिक प्रभावित भाग आंत होता है। टाइफाइड बुखार में पाचन तंत्र प्रभावित हो जाता है लेकिन समय के साथ-साथ शरीर के कई अन्य अंग भी प्रभावित हो जाते हैं। टाइफाइड के रोगियों को पेट दर्द, दस्त, कब्ज और वजन कम होने जैसी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

टाइफाइड को Hindi में क्या कहते हैं?

इसे सुनेंरोकेंआंत्र ज्वर (अंग्रेज़ी:टाइफायड) जीवन के लिए एक खतरनाक रोग है जो कि सलमोनेल्ला टायफी (Salmonella typhi) नामक जीवाणु (बैक्टीरिया) से होता है। आंत्र ज्वर (टाइफायड) को सामान्यतः एंटीबायोटिक दवाइयों से रोका तथा इसका उपचार किया जा सकता है। इसे मियादी बुखार भी कहा जाता है। यह रोग विश्व के सभी भागों में होता है।